वेब सर्वर क्या है?

Editor
0

 वेब सर्वर क्या है? दोस्तों यह सवाल अक्सर आपके मन में भी आता होगा तो आज हम वेब सर्वर और सर्वर क्या है? इनमे क्या अंतर है यह कैसे काम करता है? वेब सर्वर और सर्वर कितने प्रकार का होता है सबसे ज्यादा उसे होने वाले सर्वर कौन सा है?

वेब पेज डिलीवर करने वाले कंप्यूटर को वेब सर्वर कहा जाता है। प्रत्येक वेब सर्वर का एक आईपी पता और एक डोमेन नाम होता है। कोई भी कंप्यूटर वेब सर्वर में तब परिवर्तित होता है, जब उसमें सर्वर सॉफ्टवेयर इंस्टाल हो और वह इंटरनेट से जुड़ा हो। चलिए अब विस्तार से समझते हैं.

सर्वर क्या है

सर्वर क्या है, सर्वर की विशेषताएं और सर्वर के प्रकार: सर्वर एक कंप्यूटर प्रोग्राम या डिवाइस है जो विभिन्न कंप्यूटरों को डेटा प्रदान करता है। हम एक सर्वर को एक नेटवर्क पर कंप्यूटर के एक भाग के रूप में मान सकते हैं जो एक वाइड एरिया नेटवर्क (WAN) पर लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) पर कंप्यूटर सिस्टम में डेटा प्रसारित करता है।

'सर्वर' नाम 'सर्व' शब्द से बना है, इसका हिन्दी अर्थ सेवा करना है। सर्वर निर्देशों पर उपयोगकर्ता के लिए वेब पेज सर्व है और सभी वेबसाइटें किसी न किसी प्रकार के सर्वर का उपयोग करती हैं।

सर्वर के प्रकार –
Web Server, Aplication Server, Proxy Server, File Server, Database Server, Mail Server and FTP Server लेख को अंत तक पढ़े, इन सभी के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। दोस्तों इसके अलावा कुछ कमी रह जाती है तो कमेंट में जरूर बताये।

Application Server - एप्लिकेशन सर्वर का उपयोग सभी एप्लिकेशन को विकसित करने और चलाने के लिए किया जाता है। एप्लिकेशन सर्वर एक प्रोग्राम है जो उपयोगकर्ता और संगठन डेटाबेस और बैक-एंड व्यावसायिक अनुप्रयोगों के लिए अनुप्रयोगों को संचालित और संभालता है।

Proxy server - प्रॉक्सी सर्वर जो यूजर और इंटरनेट के बीच गेटवे का काम करता है। प्रॉक्सी सर्वर क्लाइंट प्रोग्राम और बाहरी सर्वर के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है। जब कोई उपयोगकर्ता प्रॉक्सी सर्वर से जुड़ता है और जब वह किसी सेवा का अनुरोध करता है, तो प्रॉक्सी अनुरोध को हल करता है और जटिलताओं के नियंत्रण के लिए इसका मूल्यांकन करता है।

File server - फ़ाइल सर्वर का कार्य एक नेटवर्क के भीतर विभिन्न फ़ाइलों जैसे टेक्स्ट दस्तावेज़, मल्टीमीडिया, फ़ोटो फ़ाइलें आदि को संग्रहीत करने के लिए एक स्थान प्रदान करता है। जैसे गूगल ड्राइव

Database server - मेल सर्वर एक डेटाबेस सिस्टम है जो कंप्यूटर में डेटाबेस से डेटा एक्सेस करने का कार्य करता है। यह डेटा एक्सेस करते समय सेवाओं की पुनर्प्राप्ति से संबंधित कार्य करता है।

Mail server - मेल सर्वर को (MTA) मेल सर्वर ट्रांसफर एजेंट या इंटरनेट मेलर्स के रूप में भी जाना जाता है। मेल सर्वर इंटरनेट में एक नेटवर्क पर ईमेल को संभालता है और प्राप्तकर्ता को ईमेल भेजता है। जब हम किसी से मेल प्राप्त करते हैं या भेजते हैं, इस दौरान मेल को मेल सर्वर की एक जटिल प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है, जिसके कारण हमें मेल प्राप्त होता है।

FTP Server - FTP सर्वर का पूरा नाम फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल है, जो दुनिया के किसी भी कंप्यूटर में फाइल ट्रांसफर करने का काम करता है। जब कोई वेब ब्राउज़र किसी वेब पेज का अनुरोध करता है, तो वेब ब्राउज़र FTP प्रोटोकॉल का उपयोग करता है और फ़ाइल को उपयोगकर्ता तक पहुंचाता है।


वेब सर्वर क्या है?
वेब सर्वर एक सर्वर सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर है जो वेबसाइट चलाने का कार्य करता है। वेब सर्वर को कंप्यूटर प्रोग्राम भी कहा जाता है जिसका कार्य वेबपेजों को स्टोर करना, प्रोसेस करना और डिलीवर करना है। वेब सर्वर में आंतरिक संचार के लिए हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल (HTTP) का उपयोग किया जाता है।

इसे दो भागों में विभाजित किया जा सकता है, पहला वह मशीन जिस पर वेब सर्वर स्थापित है और दूसरा सॉफ्टवेयर जो वेब सर्वर के रूप में कार्य करता है। आमतौर पर वेब पेजों को HTTP प्रोटोकॉल द्वारा उपयोगकर्ता तक पहुंचाया जाता है। उपयोगकर्ता किसी भी कंप्यूटर को वेब सर्वर में परिवर्तित कर सकता है जो वेब सर्वर सॉफ़्टवेयर स्थापित करके और इसे इंटरनेट से जोड़कर इंटरनेट पर वेब पेज प्रदान करता है।

उपयोगकर्ता इंटरनेट पर जो भी वेब पेज देखता है, वह उनके कंप्यूटर पर किसी वेब सर्वर के माध्यम से एक्सेस किया जाता है। यदि उपयोगकर्ता केवल अपने कंप्यूटर पर सॉफ़्टवेयर स्थापित करता है और इसे इंटरनेट से नहीं जोड़ता है, तब भी इसे वेब सर्वर कहा जाएगा, लेकिन यह सर्वर उपयोगकर्ता का कार्य स्थानीय स्तर पर करेगा।



वेब सर्वर कैसे काम करता है?
HTTP यानी हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल एक एप्लिकेशन प्रोटोकॉल है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट के जरिए मीडिया या टेक्स्ट भेजने के लिए किया जाता है। इसके जरिए क्लाइंट गूगल क्रोम ब्राउजर एप्लिकेशन के जरिए सर्वर से डाटा रिसीव कर पाते हैं। HTTP प्रोटोकॉल के कारण क्लाइंट और सर्वर के बीच कनेक्शन बनता है।

इंटरनेट के माध्यम से हम जितनी भी वेबसाइट और डेटा खोलते हैं या डाउनलोड करते हैं, वह सब HTTP के कारण ही संभव है। HTTP वर्ल्ड वाइड वेब का आधार है। HTTP डेटा ट्रांसफर करने के लिए पोर्ट 80 का उपयोग करता है। HTTP सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले प्रोटोकॉल में से एक है, जिसके उपयोग से हम इंटरनेट का उपयोग करने में सक्षम हैं।

HTTP और HTTPS प्रोटोकॉल में क्या अंतर है?

प्रत्येक वेब सर्वर प्रोग्राम क्लाइंट से HTTP रिक्वेस्ट प्राप्त करता है। क्लाइंट को HTTP प्रतिक्रिया देता है। यदि क्लाइंट अनुरोध में कुछ त्रुटि प्राप्त होती है, तो वेब सर्वर एक त्रुटि प्रतिक्रिया भेजता है, जिसमें कुछ कस्टम HTML या टेक्स्ट संदेश होता है।

HTTP एरर कोड क्या है?
    
Types of Web Servers
apache web server
Internet information server
Nginx service server
light speed web server

Apache Web Server
अपाचे वेब सर्वर का पहला संस्करण वर्ष 1995 में जारी किया गया था और 1999 में अपाचे समूह अपाचे सॉफ्टवेयर फाउंडेशन बन गया। यह सबसे लोकप्रिय सर्वर है जो कंप्यूटर को एक या अधिक वेबसाइटों को होस्ट करने में सक्षम बनाता है। यह सर्वर दुनिया भर में लगभग 46% वेबसाइटों को नियंत्रित करता है।

ओपन सोर्स और फ्री वेब सर्वर होने के कारण अपाचे वर्तमान समय में काफी लोकप्रिय Web Server बन गई है। अपाचे एक नए प्लेटफॉर्म का समर्थन करता है जिसमें लिनक्स, विंडोज और मैकिंटोश ऑपरेटिंग सिस्टम शामिल हैं। अपाचे को तकनीकी रूप से अपाचे 'HTTP सर्वर' के रूप में भी जाना जाता है।


Internet Information Server
इंटरनेट सूचना सर्वर, जिसे आईआईएस भी कहा जाता है, एक माइक्रोसॉफ्ट का प्रोडक्ट है जिसमें अपाचे जैसी सभी सुविधाएं हैं। आईआईएस सभी विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफॉर्म के साथ काम करता है। इस सर्वर में अलग-अलग मॉडल जोड़ना आसान नहीं है क्योंकि यह खुला स्रोत (ओपन सोर्स) नहीं है।



Nginx Web Server
This server is known for its high performance, stability, simple configuration and low resource usage. Nginx वेब सर्वर एक मुक्त खुला स्रोत (ओपन सोर्स) वेब सर्वर है जिसमें IMAP/POP3 प्रॉक्सी सर्वर शामिल है। यह वेब सर्वर अनुरोधों को संभालने के लिए थ्रेड्स का उपयोग नहीं करता है।

यह एक स्केलेबल इवेंट संचालित आर्किटेक्चर है जो लोड के तहत छोटी और अनुमानित मात्रा में मेमोरी का उपयोग करता है। वर्तमान में यह सर्वर बहुत लोकप्रिय हो रहा है और अधिक से अधिक वेब होस्टिंग कंपनियां इसका उपयोग कर रही हैं।

Light Speed वेब सर्वर
यह इंटरनेट पर चौथा सबसे लोकप्रिय वेब सर्वर है जो एक व्यावसायिक वेब सर्वर है। लाइट स्पीड वेब सर्वर प्रतिस्थापन में एक उच्च प्रदर्शन सर्वर है।

सेम कॉन्फिग्रेशन में मैंने Nginx, Light Speed और Apache तीनो इस्तेमाल किया है। लेकिन Light Speed सर्वर सबसे अच्छा और पेरफ़ोर्मनस तेज है, यह पर्सनल अनुभव रहा है।

Web Server Features
HTTP प्रोटोकॉल - HTTP का पूरा नाम 'हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल' है जिसका उपयोग हम इंटरनेट के माध्यम से हाइपरमीडिया या हाइपर टेक्स्ट फाइल को क्लाइंट ब्राउज़र एप्लिकेशन के माध्यम से सर्वर से सर्वर में डेटा ट्रांसफर करने में सक्षम होते हैं। HTTP प्रोटोकॉल दुनिया भर में उपयोग किया जाने वाला सबसे लोकप्रिय प्रोटोकॉल है, जिसके माध्यम से हम इंटरनेट जैसी तकनीक का उपयोग करने में सक्षम हैं।

लॉग इन - एक वेब सर्वर में क्लाइंट अनुरोधों और फाइलों के सर्वर प्रतिक्रियाओं के बारे में विस्तृत जानकारी लॉग करने की क्षमता होती है। वेब सर्वर भी वेब मास्टर को फाइलों पर लॉग एनालाइजर चलाकर डेटा एकत्र करने की अनुमति देता है।

प्रमाणीकरण - वेब सर्वर सभी संसाधनों तक पहुँचने से पहले उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड के माध्यम से प्रमाणीकरण के लिए अतिरिक्त प्राधिकरण अनुरोध भी भेजता है।

हैंडलिंग - वेब सर्वर एक या अधिक संबंधित इंटरफेस का समर्थन करके स्थिर सामग्री और गतिशील सामग्री को संभालता है। जैसे – SSI, CGI, SCGI, FastCGL, JSP, ColdFusion, PHP etc.

सुरक्षा - वेब सर्वर सामान्य पोर्ट 80 के बजाय मानक पोर्ट 443 पर सुरक्षित कनेक्शन की अनुमति देते हुए HTTPS का समर्थन करता है।

वर्चुअल होस्टिंग – वेब सर्वर पर वर्चुअल होस्टिंग के माध्यम से एक आईपी एड्रेस बनाकर कई साइटों की सेव करना संभव है।

बैंडविड्थ थ्रॉटलिंग - इस पर आने वाले लेख में विस्तार से बात करेंगे।  अभी यह जान लीजिये की बैंडविड्थ एक कंप्यूटर के RAM की तरह होती है  मतलब जयादा RAM होने पर अधिक एप्लीकेशन मल्टीटास्किंग कर सकते हैं। वैसे ही जितना अधिक बैंडविड्थ उतना अधिक ट्रैफिक साइज.


वेब सर्वर की उपयोगिताएँ निम्नलिखित हैं -
वेब सर्वर का मुख्य कार्य वेबसाइट होस्टिंग को नियंत्रित और प्रबंधित करना है।
वेब सर्वर FTP बनाता है जो वेबसाइट की फाइलों को अपलोड या डाउनलोड कर सकता है।
वेब सर्वर डिफ़ॉल्ट दस्तावेज़ या डिफ़ॉल्ट को निर्धारित करने का कार्य भी करता है।
वेब सर्वर वेबसाइट के सामने आने वाली समस्याओं जैसे सर्वर नहीं मिला और http त्रुटि आदि को हल करने में सहायक है।


निष्कर्ष: इस व्हाट इस से निष्कर्ष यह निकलता है की वेब सर्वर एक सॉफ्टवेयर है जिसे वेबसाइट एडमिन लोग इस्तेमाल करते हैं और यहां वेबसाइट सभी फाइल जैसे टेक्स्ट, इमेज और वीडियो होती है जो आगंतुकों को वेब पेज प्रदान करता है। यानी वह सॉफ्टवेयर जो यूजर को वेब पेज डिलीवर करता है उसे वेब सर्वर कहा जाता है।

उम्मीद है दोस्तों आपको यह लेख पसंद आया होगा मेरी हमेशा कोशिश रहती है की आपको हर एक जानकारी विस्तार मालूम हो फिर भी यदि कुछ रह गया है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताये साथ ही अपने दोस्तों के साथ शेयर करे, नए टॉपिक के सलाह जरूर दे. लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद!




Tags

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(31)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !